NCERT Class 8 English Chapter 1 The Ant and the Cricket
NCERT Class 8 English Chapter 1 The Ant and the Cricket

A fable is a story, often with animals as characters, that conveys a moral. This poem about an ant and a cricket contains an idea of far-reaching significance, which is as true of a four-legged cricket as of a ‘two-legged one’. Surely, you have seen a cricket that has two legs!
एक कहानी, जिसे अक्सर जानवरों को पात्र बनाकर प्रस्तुत किया जाता है, एक नैतिक शिक्षा देती है। यह कविता एक चींटी और एक झींगुर के बारे में है, जिसमें एक महत्वपूर्ण संदेश छिपा है, जो चार टांगों वाले झींगुर के लिए उतना ही सत्य है जितना कि ‘दो टांगों वाले’ के लिए। निश्चित रूप से, आपने दो टांगों वाला झींगुर देखा होगा!

  • कहानी एक मूर्ख और लापरवाह झींगुर के बारे में है।
  • गर्मियों और वसंत ऋतु के दौरान, जब मौसम सुहाना था, झींगुर सिर्फ गाना-बजाना और मौज-मस्ती में ही व्यस्त रहता था।
  • वह भविष्य की चिंता किए बिना दिन-रात गाता रहता था।
  • लेकिन सर्दी आने पर, जब चारों तरफ बर्फ जम गई और खाने को कुछ नहीं बचा था, तब उसे अपनी गलती का एहसास हुआ।
  • भूख से परेशान होकर, मदद के लिए वह एक मेहनती चींटी के पास जाता है।
  • चींटी मेहनत करके अनाज इकट्ठा करती है और भविष्य के लिए तैयार रहती है।
  • झींगुर चींटी से थोड़ा सा अनाज और रहने की जगह मांगता है, वो भी सिर्फ उधार के तौर पर।
  • लेकिन चींटी उसे उधार देने से मना कर देती है।
  • चींटी झींगुर को याद दिलाती है कि जब मौसम अच्छा था, तब उसने मेहनत करके अनाज इकट्ठा क्यों नहीं किया।
  • इस कहानी से सीख मिलती है कि हमें मेहनत करनी चाहिए और भविष्य के लिए तैयार रहना चाहिए।
  • जैसे चींटी, हमें भी कठिन समय के लिए बचत करनी चाहिए।
  • आखिरी पंक्ति में कवि कहता है कि ये कहानी सच है।
  • दुनिया में कुछ लोग मेहनती चींटी की तरह होते हैं और कुछ आलसी झींगुर की तरह।
  • इस दुनिया में सिर्फ चार पैर वाले झींगुर ही नहीं होते, बल्कि दो पैर वाले लोग भी होते हैं जो भविष्य की चिंता नहीं करते और बाद में परेशानी उठाते हैं।

The cricket says, “Oh! what will become of me?” When does he say it, and why?

The cricket says, “Oh! what will become of me?” When: He says this when winter arrives and he finds himself without any food or shelter. Why: Because he did not save anything during the good times and is now facing the consequences of his laziness.
झींगुर कहता है, “अरे! मेरा क्या होगा?” कब: जब सर्दी आती है और उसे खाने को कुछ नहीं मिलता, तब वह यह कहता है। क्यों: क्योंकि उसने अच्छे मौसम में कुछ भी नहीं बचाया था और अब अपनी आलसीपन की सजा भुगत रहा है।
NCERT Class 8 English Chapter 1 The Ant and the Cricket

Find in the poem the lines that mean the same as “Neither a borrower nor a lender be” (Shakespeare).

The lines that mean the same as “Neither a borrower nor a lender be” are:
“I’m your servant and friend, But we ants never borrow; we ants never lend.”
कविता में वही पंक्तियां जो “न उधार लो और न उधार दो” के अर्थ को दर्शाती हैं:
“मैं आपकी सेविका और मित्र हूं, लेकिन हम चींटियां कभी उधार नहीं लेतीं; हम चींटियां कभी उधार नहीं देतीं।”
NCERT Class 8 English Chapter 1 The Ant and the Cricket

What is your opinion of the ant’s principles?

My opinion of the ant’s principles is that they promote self-reliance and being prepared. While it might seem harsh not to help a friend, the ant’s hard work ensures its own survival.
चींटी के सिद्धांतों के बारे में मेरी राय यह है कि वे आत्मनिर्भरता और भविष्य के लिए तैयार रहने को बढ़ावा देते हैं। हालांकि किसी मित्र की मदद न करना कठोर लग सकता है, चींटी की मेहनत उसके अपने अस्तित्व को सुनिश्चित करती है।
NCERT Class 8 English Chapter 1 The Ant and the Cricket

The ant tells the cricket to “dance the winter away”. Do you think the word ‘dance’ is appropriate here? If so, why?

The word ‘dance’ might seem sarcastic here. The cricket cannot dance away the harsh winter, highlighting the foolishness of his past actions.
यहां ‘नाच’ शब्द व्यंग्यात्मक लग सकता है। झींगुर कठोर सर्दी को नाच कर दूर नहीं कर सकता, जो उसके पिछले कार्यों की मूर्खता को दर्शाता है।
NCERT Class 8 English Chapter 1 The Ant and the Cricket

Which lines in the poem express the poet’s comment?

The lines that express the poet’s comment are:
“Folks call this a fable. I’ll warrant it true: Some crickets have four legs, and some have two.”
कवि की टिप्पणी को व्यक्त करने वाली पंक्तियाँ हैं:
“लोग इसे एक कहानी कहते हैं। मैं इसे सच मानता हूं: कुछ झींगुरों के चार पैर होते हैं, और कुछ के दो।”
NCERT Class 8 English Chapter 1 The Ant and the Cricket

Write the comment in your own words.

In the poet’s own words, the comment is: This story is true, and it applies to everyone, regardless of whether you have four legs (like a cricket) or two (like a human). Some people are like the hardworking ant, while others are like the lazy cricket.
अपनी ही शब्दों में कवि की टिप्पणी यह है: यह कहानी सच है, और यह हर किसी पर लागू होती है, भले ही आपके चार पैर हों (जैसे झींगुर के) या दो (जैसे इंसान के)। कुछ लोग मेहनती चींटी की तरह होते हैं, जबकि कुछ आलसी झींगुर की तरह होते हैं।
NCERT Class 8 English Chapter 1 The Ant and the Cricket

S.No.Chapter’s Name
Chapter 1.The Best Christmas Present in the World
The Ant and the Cricket
Chapter 2.The Tsunami
Geography Lesson
Chapter 3.Glimpses of the Past
Notes for the Teacher (Units 4-7)
Chapter 4.Bepin Choudhury’s Lapse of Memory
The Last Bargain
Chapter 5.The Summit Within
The School Boy
Chapter 6.This is Jody’s Fawn
Chapter 7.A Visit to Cambridge
Notes for the Teacher (Unit 8)
Chapter 8.A Short Monsoon Diary
On the Grasshopper and Cricket
Chapter 9.The Great Stone Face-I
Chapter 10.The Great Stone Face-II
UP BOARD
NCERT Class 8 English Chapter 1 The Ant and the Cricket

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top